UttarakhandDIPR

एचआरटीसी चंबा डिपो घोटाला मेे लापता कैशियर के मामले की जांच टीम से पूछताछ

हिमाचल प्रदेश् : चंबा के एचआरटीसी डिपो में घोटाले की जांच के दौरान लापता हुए कैशियर के मामले में पुलिस ने जांच टीम से भी पूछताछ कर रही है। एचआरटीसी के अधिकारियों से भी मामले को लेकर सवाल जवाब उटाए हैं। सभी को पूछताछ के लिए एएसपी कार्यालय में तलब किया। यहां अधिकारियों से जांच के दौरान कैशियर से हुई बातचीत को लेकर जानकारी ली। परिजनों का आरोप यह है कि जांच टीम की पूछताछ के बाद कैशियर नरेंद्र कुमार मानसिक परेशान हो गया था।

इन्हीं परिस्थितियों में लापता हो गया। हालांकिए पुलिस जांच में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है। पुलिस टीम और लापता के परिजन सुबह से शाम तक रावी तट पर नरेंद्र की तलाश कर रहे हैंए मगर अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस ने एचआरटीसी कार्यालय में लगे सीसीटीवी की फुटेज भी खंगाली है। कार्यालय के पास निजी होटलों और दुकानों के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की भी जांच की गई है।

सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को लापता कैशियर के बस स्टैंड से कसाकड़ा मोहल्ला के बीच गायब होने के प्रमाण मिले हैं। सीसीटीवी से मिले अहम सुराग सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक 29 जून को दोपहर के समय लापता कैशियर पौने दो बजे शीतला माता मंदिर की तरफ गया। यहां उसे पुजारी ने भी देखा। इसके बाद वापस बस स्टैंड के पीछे मुख्य सड़क पर रावी के मुहाने पर बने पैरापिट पर बैठा देखा गया। एक व्यक्ति ने उसे देखने के बाद इसकी सूचना पुलिस थाना चंबा में भी दी। उसके बाद कैशियर का कुछ पता नहीं चला। सूत्रों के मुताबिक पुलिस कैशियर के फोन कॉल रिकॉर्ड को भी खंगाल रही है। सीटी चौकी प्रभारी विक्रम सिंह ने बताया कि लापता कैशियर को तलाशने में जुटे है

Leave a Reply