UttarakhandDIPR

नेपाली नहीं, बिहारी मजदूर ढोएंगे सेब

 

शिमला:  सेब सीजन की शुरुआत होने जा रही है। कुछ ही दिनों में मार्केट में सेब की आमद हो जाएगी। ऐसे में सरकार और सेब उत्पादकों की चिंता मजदूरों को लेकर बढ़ गई है। सूत्रों के अनुसार नेपाल से अब मजदूर यहां पर नहीं आ सकेंगे, इसे लेकर सरकार के स्तर पर जो प्रयास चल रहे थे, वे निष्फल साबित हुए हैं। भारत और नेपाल के बीच मामला सुलझा नहीं है, जिसकी वजह से हिमाचल में नेपाली मजदूर इस सीजन में नहीं आएंगे। ऐसे में सरकार के सामने चुनौती यह है कि दूसरे मजदूरों का इंतजाम कहां से किया जाए। बताया जा रहा है कि नेपाली मजदूरों के बजाय अब बिहारी मजदूरों को यहां पर सेब के तुड़ान व ढुलाई के लिए बुलाया जाएगा। इसे लेकर जिला स्तर पर बातचीत चल रही है। बिहार के बलरामपुर व इसके साथ लगते जिलों में मजदूरों को भेजे जाने को लेकर चर्चा की जा रही है और उम्मीद की जा रही है कि वहां से करीब 15 से 20 हजार मजदूर यहां पर आ जाएंगे। इसके साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाकों में भी बातचीत हुई है, जहां से भी मजदूरों का इंतजार सरकार करने का प्रयास कर रही है। इन मजदूरों को हिमाचल की सीमा से यहां पर लाने का इंतजाम आगे किया जाएगा और आने वाले कुछ ही दिनों में इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा। बता दें कि शुरुआत से ही हिमाचल में सेब ढुलाई के लिए नेपाल के मजदूर काम आते रहे हैं। बड़ी संख्या में ये लोग यहां पर इस काम को करते थे। कई नेपाली मजदूर अभी तक यहीं पर बागबानों के बागीचे में हैं, उनके लिए तो दिक्कत नहीं, मगर जो मजदूर यहां से चले गए, उनकी जगह पर दिक्कत है।

Leave a Reply