UttarakhandDIPR

बसों में नहीं बढ़ रहीं सवारियां, एचआरटीसी ने क्लब किए रूट

 हिमाचल: राज्य में कोरोना के बढ़ते खौफ के बीच लोग बसों में बैठने से परहेज करने लगे की खबर मिली है। लंबे रूटों की बसों में सवारियां 30 से 35 फीसदी से ज्यादा नहीं बढ़ पा रही हैं। लोकल रूटों में 40 फीसदी ऑक्यूपेंसी चल रही है। इसी के चलते परिवहन निगम ने सैकड़ों रूटों को क्लब कर दिया है। हिमाचल में परिवहन निगम के 2800 रूट हैं। इनमें से 1700 रूटों पर ही बसें चल रही हैं। प्रदेश सरकार ने हाल ही में बस किराये में बढ़ोतरी की है। लेकिन कोरोना के चलते निजी बस ऑपरेटरों को भी सवारियां नहीं मिल रही हैं। ऐसे में निजी बस संचालक भी बसें चलाने से गुरेज कर रहे हैं। निजी ऑपरेटर संघ के महासचिव रमेश कवल ने बताया कि निजी ऑपरेटर धीरे.धीरे बसें चला रहे हैं। एक अगस्त से तकरीबन सभी बसें शुरू हो जाएंगी। परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने बताया कि जैसे सवारियां बढ़ रही हैंए वैसे ही रूटों पर बसें भी चलाई जा रही है!

Leave a Reply