UttarakhandDIPR

विद्युत बोर्ड के कर्मचारी के साथ उपभोक्ता द्वारा बेरहमी से मारपीट के खिलाफ की कड़ी कार्यवाही की मांग

 

सीताराम नेगी

हिमाचल प्रदेश :  राज्य आउटसोर्स   कर्मचारी यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप खरवाड़ा ने गत दिवस धर्मपुर विद्युत उप-मण्डल के अन्तर्गत बिजली बिल वितरण के कार्य में लगे आउटसोर्स के कर्मचारी अजय ठाकुर के साथ बिजली उपभोक्ता रत्न चन्द ने बेरहमी से मारपीट करने व गाली-गलोच करने के खिलाफ नियमों तहत कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।   वही जिला किन्नौर के अध्यक्ष श्री सीताराम नेगी ने चेतावनी दिया की यदि समय पर आउट सोर्सिंग कर्मचारी को न्याय नहीं मिला तो जल्‍द ही  धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

बिजली उपभोक्ता रत्न चन्द नेे बजलीी मीटर से सीधी सप्लाई जोड़कर बिजली चोरी की जा रही थी जिसका आउटसोर्स कर्मचारी वीडियो बना रहा था कि पीछे से आकर रत्न चन्द ने अजय ठाकुर पर हमला कर दिया और उसका मोबाइल छीन लिया। उन्होंने कहा कि अजय ठाकुर को उपरोक्त उपभोक्ता के परिवार के सदस्यों ने रत्न चन्द से बड़ी मुश्किल से छुड़ाया ले  रत्न चन्द ने अजय ठाकुर को मारपीट करने के बाद आधे घण्टे तक कमरे में बन्द कर दिया और मोबाइल की वीडियो डिलिट करने की कोशिश करते रहे लेकिन मोबाइल लॉक न खुलने की बजह से वीडियो डिलिट नहीं हो पाई।  रिपोर्ट पुलिस थाना धर्मपुर को करने के साथ – साथ विभागीय अधिकारियों को भी इसकी जानकारी दी है।

उपरोक्त कर्मचारी को गम्भीर चोट आईं हैं। उन्होंने बताया कि उपरोक्त कर्मचारी द्वारा अपने साथ हुई मारपीट की लिखित शिकायत यूनियन को दी है और अपनी शिकायत में उसने यह भी बताया है कि उसने पहले भी दो बार रत्न चन्द नामक उपभोक्ता को चोरी करते हुए रंगे हाथ पकड़ा था और सम्बन्धित एस०डी०ओ० और जे०ई० को इसकी जानकारी दी थी। लेकिन विभाग द्वारा भी समय रहते उपभोक्ता के खिलाफ कोई कानूनन कार्यवाही नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि यूनियन ने इस सारी वारदात के सम्बन्ध में बिजली बोर्ड के प्रबन्ध निदेशक आर०के० शर्मा और धर्मपुर विद्युत मण्डल के वरिश्ठ अधिशाशी अभियन्ता विवेक धीमान से विस्तृत बात की है और बिजली चोरी का वीडियो भी भेजा है। उपरोक्त अधिकारियों द्वारा यूनियन को कड़ी कार्यवाही करने का भरोसा दिया गया है। उन्होंने कहा कि यूनियन पुरजोर शब्दों में बिजली बोर्ड के प्रबन्धक वर्ग से माँग करती है कि बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ता की बिजली काटी जाए और उसको पुलिस के हवाले किया जाए।

यह बिजली चोर उपभोक्ता अपने आप को मन्त्री का खासमखास होने का रौब दिखा कर बदतमीजी करता है अगर ऐसी गुंडागर्दी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही नहीं की जाती है तो यूनियन सड़कां पर उतरने से गुरेज नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि यूनियन बिजली बोर्ड के ऊर्जावान प्रबन्ध निदेशक आर०के० शर्मा से माँग करती है कि जो फ्लाईंग स्कॉट के अधिकारी दफ्तरों में बैठे हैं उनको दफ्तरों से बाहर निकाल कर के बिजली चोरी पकड़ने के लिए फील्ड में उतारा जाए और डिविजनल स्तर पर बिजली चोरी पकड़ने के लिए कमेटियों का गठन किया जाए, ताकि बढ़ती बिजली की चोरी पर अंकुश लग सके और संचार वितरण हानियों को भी कम किया जा सके।

Leave a Reply