UttarakhandDIPR

प्रदेश सरकार व जेएसडब्ल्यू नियो एनर्जी के मध्य 15 हजार करोड़ का एमओयू

प्रदेश सरकार व जेएसडब्ल्यू नियो एनर्जी के मध्य 15 हजार करोड़ का एमओयू

-योजना से 1000 लोगो को मिलेंगे रोजगार के अवसर

देहरादून: उत्तराखण्ड सरकार और जे एस डब्ल्यू नियो एनर्जी लिमिटेड के मध्य 15 हजार करोड़ का एमओयू किया गया। एमओयू के तहत अल्मोड़ा में 1500 मेगावाट के 2 पम्प स्टोरेज का विकास किया जाएगा, तथा योजना के चलते एक हजार लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

बुधवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की उपस्थिति में नई दिल्ली में ग्लोबल इन्वेस्टर समिट 2023 के रोड शो के अवसर पर उत्तराखण्ड सरकार और जे एस डब्ल्यू नियो एनर्जी लिमिटेड के मध्य 15 हजार करोड़ का एमओयू किया गया। एमओयू के तहत अल्मोड़ा में 1500 मेगावाट के 2 पम्प स्टोरेज का विकास किया जाएगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड में पंप स्टोरेज प्लांट, सीमेंट, स्पोर्ट, ट्रेनिंग सेंटर, पेयजल, कुमाऊ के मंदिरों (मानसखंड मंदिर माला को सीएसआर के तहत) पुनःर्द्धार व सौंदर्यकरण के क्षेत्र में सहयोग की अपेक्षा की।

एमओयू के तहत जे.एस. डब्ल्यू एनर्जी 1500 मेगावाट क्षमता के अल्मोडा में 2 स्वकृपहचान वाली पंप स्टोरेज परियोजनाएं स्थापित करने की योजना पर कार्य करेगी, जिसे अगले 5कृ6 वर्षों में विकसित किया जाएगा। अल्मोडा के जोसकोटे गांव में साइट 1 में यह योजना निचला बांध ध् जलाशय कोसी नदी से 8कृ10 किमी की दूरी पर प्रस्तावित है तथा अल्मोड़ा के कुरचैन गांव में साइट 2 में यह ऊपरी जलाशय कोसी नदी से 16 किमी की दूरी पर प्रस्तावित है।

इस योजना से एक बड़ी आबादी को पेयजल की आपूर्ति तथा कृषि के लिए सिचाई की सुविधा प्राप्त होगी। इसके साथ ही इस योजना से 1000 लोगो को रोजगार के अवसर मिलेंगे। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने राज्य में पीएसपी के विकास को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखंड पंप स्टोरेज परियोजना नीति तैयार की है, जो डेवलपर्स को प्रमुख प्रोत्साहन प्रदान करती है।

एमओयू के दौरान सचिव डॉ मीनाक्षी सुंदरम, विनय शंकर पाण्डेय, एम डी सिडकुल रोहित मीणा तथा जे एस डबल्यू नियो एनर्जी लिमिटेड के निदेशक ज्ञान बद्र कुमार मौजूद रहे।