UttarakhandDIPR

नौकरी के लिए विदेश भेजने के नाम कई लाख की ठगी का आरोप,चार पर मुकदमा

नौकरी के लिए विदेश भेजने के नाम कई लाख की ठगी का आरोप,चार पर मुकदमा

रुद्रपुर: रोजगार के लिए दुबई भेजने के नाम पर कुछ लोगों ने एक व्यक्ति से 2-30 लाख रूपये की धोखाधड़ी कर ली गई। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी। खेड़ा कालोनी वार्ड 17 रुद्रपुर निवासी राजेश कुमार शर्मा पुत्र स्व- रमाशंकर शर्मा  ने मिथुन हलदार पुत्र सुनील हलदार, राजू हलदार पुत्र सुनील हलदार, सुनील हलदार पुत्र अज्ञात निवासी जगतपुरा ट्राजिट कैम्प, सतपाल सिह पुत्र अज्ञात निवासी ग्राम मलसा किच्छा के विरूद्ध कोर्ट में वाद दायर किया।  उसका आरोप है कि गुरवाज सिह व उसकी कुछ वर्ष पूर्व मिथुन हलदार से जान पहचान हुयी।
मिथुन ने बताया कि वह व उसका भाई राजू हलदार लोंगो का नौकरी का वीजा देकर विदेश भेजने का कार्य करते है और वहाँ पर लोगों की मोटी सैलरी पर अच्छी नौकरी लगवाते है। तुमको दुबई भेज देते है और वहाँ पर तुमको लगभग 80 हजार से 1 लाख रूपये सैलरी व फ्री खाना  मिलेगा। मिथुन उसको अपने आफिस लाया वहाँ अपने भाई राजू हलदार, पिता सुनील हलदार, सतपाल सिह  व गुरवाज सिह जिसे अपना पार्टनर बताया से मुलाकात करवायी। उन्होंने कहा विदेश में नौकरी लगवाने में लगभग 2 से ढाई लाख रूपये का खर्चा आता है। बताया कि एक सुनियोजित षडयन्त्र के तहत उसे अपनी बातों में फसा लिया और कहा कि अभी  आँफिस में एक स्कीम चल रही है अगर तुम आज ही रजिट्रेशन कराते हो तो तुमको 10 प्रतिशत का डिस्काउन्ट दिया जायेगा। उससे रजिट्रेशन के नाम पर 15 हजार रूपये नकद जमा करवा दिये और दो दिन के भीतर सभी मूल दस्तावेज आदि प्रपत्र जमा करन को कहा । धीरे-धीरे उत्तफ लोगों ने उससे विदेश में नौकरी लगवाने के नाम पर 2 लाख 30 हजार रूपये ले लिये।  आरोप है कि उसेे एक फर्जी दुबई का वीजा का प्रपत्र भी दिया गया और विदेश भेजने हेतु टाल मटोल करने लगे। साथ ही 1 लाख रूपये की ओर माँग करने लगे। आरोप है मना करने व अपनी धनराशि की माँग करने पर उपरोत्तफ लोंगों द्वारा उसके साथ मारपीट की और पैसे माँगने पर जान से मारने की धमकी दी।  मिथुन हलदार, राजू हलदार, सुनील हलदार,व सतपाल सिह द्वारा प्रार्थी के साथ एक सुनियोजित षडयन्त्र रच विदेश भेजने के नाम पर धोखाधडी की है। मामले की शिकायत पुलिस से की गई लेकिन कोई कार्रवारई नहीं हुई। उसे मजबूरन कोर्ट की मदद लेनी पड़ी। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर  आरोपियों के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।