UttarakhandDIPR

एक माह के अंदर सैकड़ों अपराधियों को भेजा सलाखों के पीछे

एक माह के अंदर सैकड़ों अपराधियों को भेजा सलाखों के पीछे

देहरादून:  प्रदेश में चलाए गए एक महा के अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध पुलिस अभियान में प्रदेश में ईनामी, वांछित अपराधियों, वारण्टियों की गिरफ्तारी एवं हिस्ट्रीशीटरों के सत्यापन करने के साथ-साथ पुलिस ने 391 अपराधियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा।

पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अशोक कुमार के निर्देशन में चलाए गए प्रदेश के इस अभियान में पुलिस ने जहां सैकड़ों अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजा। वही कुल 57 ईनामी अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से एक पर एक लाख का ईनाम घोषित था।

डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस के चलाए गए इस अभियान में कुछ अपराधी पुलिस के खौफ से प्रदेश को छोड़कर भागने में सफल हुए हैं। जिनकी तलाश जारी है।

डीजीपी ने कहा कि प्रदेश को अपराध एवं अपराधियों से मुक्ति दिलाने के लिए ऐसे अभियानों को प्रदेश में हमेशा जारी रखेंगे। 31 दिसंबर तक डीजीपी ने प्रदेश के अपराध एवं अपराधियों को लेकर समस्त जनपद पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक पर आख्या प्राप्त की।

नए साल को लेकर भी डीजीपी ने अपने इरादे साफ कर दी है कि वे प्रदेश में गुंडाराज को कायम होने नहीं देंगे। इस दौरान बृहस्पतिवार को बीजेपी ने पदोन्नति हुए कमांडरों को अपने कार्यालय में सम्मानित किया।

डीजीपी ने पदोन्नत दरोगाओं के कंधों पर सजाए सितारे
उपनिरीक्षक सशस्त्र पुलिस एवं प्लाटून कमाण्डर से दलनायक पद पर पदोन्नत हुए पुलिस मुख्यालय में तैनात अजय रावत एवं रामप्रकाश भट्ट गुरुवार को डीजीपी अशोक कुमार ने कंधे पर तीसरा स्टार लगाकर उन्हें पदोन्नति की शुभकामनाएं देते हुए मेहनत व लगन से कार्य करने के निर्देश दिये।

अपनी अधिवर्षता आयु पूर्ण करने के उपरान्त सेवानिवृत्त हो रहे पुलिस उपाधीक्षक संजय बिश्नोई, धीरेन्द्र सिंह रावत एवं पुलिस मुख्यालय में तैनात अनुचर सूरजमणी भट्ट को डीजीपी ने प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया और पुलिस विभाग को दी गयी सेवाओं की सराहना करते हुए उनको सपरिवार स्वस्थ्य रहने व उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। साथ ही भविष्य में किसी भी प्रकार की समस्या व सहायता में पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया गया।

Leave a Reply